JNU: कन्हैया कुमार को मिली जमानत
JNU: कन्हैया कुमार को मिली जमानत
PUBLISHED : Mar 03 , 7:55 AMBookmark and Share



नई दिल्ली। देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को बुधवार को जमानत मिल गई है। दिल्ली हाईकोर्ट ने 10 हजार के बेल बॉन्ड पर कन्हैया को छह महीने के लिए अंतरिम जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए हैं। दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा कि ये जमानत दिल्ली पुलिस के लिए झटका नहीं है क्योंकि कोर्ट ने बैलेंस फैसला दिया है और जांच के दौरान कन्हैया को पुलिस का सहयोग करना होगा।

हाईकोर्ट ने 29 फरवरी को इस मामले में सुनवाई पूरी कर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। बुधवार को कोर्ट ने कन्हैया कुमार को जमानत पर छोडऩे के आदेश दिए। उन्हें छह महीने तक इस केस में पुलिस का जांच में सहयोग करना होगा। कन्हैया की जमानत को दिल्ली पुलिस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। कन्हैया की रिहाई से इस केस में गिरफ्तार दो अन्य आरोपी उमर खालिद और अनिर्बान को जमानत मिलने के आसार भी बढ़ गए हैं।

इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट में पुलिस ने साफ कहा था कि उसके पास कोई ऐसा सबूत नहीं है जिसके आधार पर ये कहा जा सके कि कन्हैया ने देशविरोधी नारे लगाए थे। हालांकि उसके पास तमाम गवाह हैं जिन्होंने कन्हैया को नारे लगाते हुए देखा है।

कन्हैया को गुरुवार सुबह तिहाड़ जेल से रिहा किया जा सकता है क्योंकि अभी कोर्ट का ऑर्डर जेल प्रशासन तक पहुंचने में रात हो जाएगी। दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा कि ये फैसला पुलिस के लिए झटका नहीं है क्योंकि कन्हैया को अंतरिम जमानत मिली है। वो पुलिस को जांच में सहयोग करने के लिए बाध्य है।

हाईकोर्ट में दिल्ली पुलिस ने कन्हैया को बेल दिए जाने का विरोध किया था, जबकि दिल्ली सरकार के वकील ने उसे जमानत दिए जाने की पैरवी की थी। आपको बता दें कि 9 फरवरी को जेएनयू में एक कार्यक्रम के दौरान कुछ लोगों की ओर से देश विरोधी नारेबाजी की गई थी। इस मामले में पुलिस ने 13 फरवरी को कन्हैया कुमार को गिरफ्तार किया था। कन्हैया ने अपने बयान में कहा था कि उसने कैंपस में कोई देश विरोधी नारा नहीं लगाया था।